निकर और टी शर्ट के आया सायक्लोन
(हाँ जी)
रे निकर और टी शर्ट के आया सायक्लोन
लगा के फ़ोन बाता दे सबको
बचके रहियो बाघड बिल्ली से
चंडीगढ़ से या दिल्ली से
तन्ने चारो खाने चित्त कर देगी
तेरे पुर्ज्जे फिट कर देगी
डट कर देगी तेरे दांव से बढ़ के
पेंच पलट कर देगी
चित्त कर देगी, चित्त कर देगी

[ऐसी धाकड़ है, धाकड़ है
ऐसी धाकड़ है] x 4

रे चोरियां..
ये चोरियां..
इब्ब यो सुनो..

तेरी अकड़ की रस्सी जल जाएगी
पकड़ में इसकी आग है
यो इंची टेप से नापेगी
तेरी कितनी ऊँची नाक है
तेरी सांसें अटक जायेगी (हाह)
वो जोर पटक जायेगी (कसम से)

तन्ने चारो खाने चित्त कर देगी
तेरे पुर्ज्जे फिट कर देगी
डट कर देगी तेरे दांव से बढ़ के
पेंच पलट कर देगी
चित्त कर देगी, चित्त कर देगी

[ऐसी धाकड़ है, धाकड़ है
ऐसी धाकड़ है] x 4

स्पीड सुपरफास्ट बड़ी
चोरी जब्बर जाट बड़ी
बंधा इसने जूते का जो फीता
फिर गीता बनी चीता
इस से पहले की पपीता गिरे झाड से
ये धाड़ से पछाड़ गयी
जो भी था उखाड़ना, उखाड़ गयी
जितने टाइम में तू देख पाए
पलकें झपक कर
लपक कर निकल जायेगी
राइफल की बुलेट को भी टक्कर दे जाएगी

तन्ने चारो खाने चित्त कर देगी
(ये बात)
तन्ने चारो खाने चित्त कर देगी
तेरे पुर्ज्जे फिट कर देगी
डट कर देगी.. दांव से बढ़ के
पेंच पलट कर देगी
चित्त कर देगी, चित्त कर देगी

[ऐसी धाकड़ है, धाकड़ है
ऐसी धाकड़ है] x 4
Correct  |  Mail  |  Print  |  Vote

Dhaakad Lyrics

Raftaar – Dhaakad Lyrics

निकर और टी शर्ट के आया सायक्लोन
(हाँ जी)
रे निकर और टी शर्ट के आया सायक्लोन
लगा के फ़ोन बाता दे सबको
बचके रहियो बाघड बिल्ली से
चंडीगढ़ से या दिल्ली से
तन्ने चारो खाने चित्त कर देगी
तेरे पुर्ज्जे फिट कर देगी
डट कर देगी तेरे दांव से बढ़ के
पेंच पलट कर देगी
चित्त कर देगी, चित्त कर देगी

[ऐसी धाकड़ है, धाकड़ है
ऐसी धाकड़ है] x 4

रे चोरियां..
ये चोरियां..
इब्ब यो सुनो..

तेरी अकड़ की रस्सी जल जाएगी
पकड़ में इसकी आग है
यो इंची टेप से नापेगी
तेरी कितनी ऊँची नाक है
तेरी सांसें अटक जायेगी (हाह)
वो जोर पटक जायेगी (कसम से)

तन्ने चारो खाने चित्त कर देगी
तेरे पुर्ज्जे फिट कर देगी
डट कर देगी तेरे दांव से बढ़ के
पेंच पलट कर देगी
चित्त कर देगी, चित्त कर देगी

[ऐसी धाकड़ है, धाकड़ है
ऐसी धाकड़ है] x 4

स्पीड सुपरफास्ट बड़ी
चोरी जब्बर जाट बड़ी
बंधा इसने जूते का जो फीता
फिर गीता बनी चीता
इस से पहले की पपीता गिरे झाड से
ये धाड़ से पछाड़ गयी
जो भी था उखाड़ना, उखाड़ गयी
जितने टाइम में तू देख पाए
पलकें झपक कर
लपक कर निकल जायेगी
राइफल की बुलेट को भी टक्कर दे जाएगी

तन्ने चारो खाने चित्त कर देगी
(ये बात)
तन्ने चारो खाने चित्त कर देगी
तेरे पुर्ज्जे फिट कर देगी
डट कर देगी.. दांव से बढ़ के
पेंच पलट कर देगी
चित्त कर देगी, चित्त कर देगी

[ऐसी धाकड़ है, धाकड़ है
ऐसी धाकड़ है] x 4