Kishore Kumar - Zindagi Ka Safar lyrics | LyricsFreak
Correct  |  Mail  |  Print  |  Vote

Zindagi Ka Safar Lyrics

Kishore Kumar – Zindagi Ka Safar Lyrics

ज़िन्दगी का सफ़र है ये कैसा सफ़र
कोई समझा नहीं कोई जाना नहीं
ज़िन्दगी का सफ़र है ये कैसा सफ़र
कोई समझा नहीं कोई जाना नहीं
है ये कैसी डगर चलते हैं सब मगर
कोई समझा नहीं कोई जाना नहीं

ज़िन्दगी को बहुत प्यार हमने दिया
मौत से भी मोहब्बत निभायेंगे हम
रोते रोते ज़माने में आये मगर
हँसते हँसते ज़माने से जायेंगे हम

जायेंगे पर किधर है किसे ये खबर
कोई समझा नहीं कोई जाना नहीं

ऐसे जीवन भी हैं जो जिये ही नहीं
जिनको जीने से पहले ही मौत आ गयी
फूल ऐसे भी हैं जो खिले ही नहीं

जिनको खिलने से पहले फिजां खा गयी

है परेशां नज़र थक गये चार अगर
कोई समझा नहीं कोई जाना नहीं
ज़िन्दगी का सफ़र है ये कैसा सफ़र
कोई समझा नहीं कोई जाना नहीं
Share lyrics
×
Songwriters: KALYANJI ANANDJI
Zindagi Ka Safar lyrics © Universal Music Publishing Group

LyricFind
Lyrics term of use

Zindagi Ka Safar comments