ज़रा ज़रा नींद भी अजनबी सी हो गयी
ज़रा ज़रा चैन से दुश्मनी सी हो गयी
तुम मिले खो गया है खुद का ही पता
क्या करू क्या नहीं कुछ बस में नहीं रहा
समझु कैसे कोई ही समझाए

दिल क्या करे जब किसी से
किसी को प्यार हो जाये
जाने कहाँ कब किसी को
किसी से प्यार हो जाये

उची उची दीवारों सी
इस दुनिया की रस्में
ना कुछ तेरे बस में जाना
ना कुछ मेरे बस में

तुम मिले खो गया है खुद का ही पता
क्या करू क्या नहीं कुछ बस में नहीं रहा
समझु कैसे कोई ही समझाए

दिल क्या करे जब किसी से
किसी को प्यार हो जाये
जाने कहाँ कब किसी को
किसी से प्यार हो जाये

जैसे पर्बत पे घटा झुकती है
जैसे सागर से लहर उठती है
ऐसे किसी चेहरे पे निगाह रूकती है

रोक नहीं सकती नज़रों को
दुनिया भर की कसमें

तुम मिले खो गया है खुद का ही पता
क्या करू क्या नहीं कुछ बस में नहीं रहा
समझु कैसे कोई ही समझाए

दिल क्या करे जब किसी से
किसी को प्यार हो जाये
जाने कहाँ कब किसी को
किसी से प्यार हो जाये

किसी से प्यार हो जाये
किसी से प्यार हो..
जाये..
Correct  |  Mail  |  Print

Kisi Se Pyar Ho Jaye Lyrics

Jubin Nautiyal – Kisi Se Pyar Ho Jaye Lyrics

ज़रा ज़रा नींद भी अजनबी सी हो गयी
ज़रा ज़रा चैन से दुश्मनी सी हो गयी
तुम मिले खो गया है खुद का ही पता
क्या करू क्या नहीं कुछ बस में नहीं रहा
समझु कैसे कोई ही समझाए

दिल क्या करे जब किसी से
किसी को प्यार हो जाये
जाने कहाँ कब किसी को
किसी से प्यार हो जाये

उची उची दीवारों सी
इस दुनिया की रस्में
ना कुछ तेरे बस में जाना
ना कुछ मेरे बस में

तुम मिले खो गया है खुद का ही पता
क्या करू क्या नहीं कुछ बस में नहीं रहा
समझु कैसे कोई ही समझाए

दिल क्या करे जब किसी से
किसी को प्यार हो जाये
जाने कहाँ कब किसी को
किसी से प्यार हो जाये

जैसे पर्बत पे घटा झुकती है
जैसे सागर से लहर उठती है
ऐसे किसी चेहरे पे निगाह रूकती है

रोक नहीं सकती नज़रों को
दुनिया भर की कसमें

तुम मिले खो गया है खुद का ही पता
क्या करू क्या नहीं कुछ बस में नहीं रहा
समझु कैसे कोई ही समझाए

दिल क्या करे जब किसी से
किसी को प्यार हो जाये
जाने कहाँ कब किसी को
किसी से प्यार हो जाये

किसी से प्यार हो जाये
किसी से प्यार हो..
जाये..

More Jubin Nautiyal lyrics